भारत मे तेजी से घटती गरीबी

अमेरिका में स्थित “ब्रूकिंग” एक शोधकर्ताओं का समूह है जो दुनिया के कई देशों में फैली गरीबी का आकलन करता है।

इनके द्वारा प्रकाशित की जाने वाली रिपोर्ट वर्ल्ड पॉवर्टी क्लॉक” के अनुसार..

भारत अब दुनिया मे सबसे ज्यादा गरीब जनसंख्या वाला देश नहीं रहा।


रिपोर्ट का आकलन यूनिटेक नेशन द्वारा निर्धारित $1.9 के आधार पर आधारित है। इसके यदि कोई एक दिन में $1.9 से ज्यादा की कमाई करता है तो वो गरीबी रेखा के ऊपर है।

भारत में अब 7.3 करोड़ लोग गरीबी रेखा के निचे जीवन व्यतीत कर रहे है।

वहीं नाइजीरिया जो कि अफ्रीका का एक देश है। यहाँ गरीबी रेखा के नीचे रहने वालों की संख्या 8.4 करोड़ है।

आंकड़ो के हिसाब से भारत में प्रति मिनट 44 लोग गरीबी रेखा के ऊपर आ रहे है।

इस हिसाब से भारत दुनिया में सबसे तेजी से गरीबी से बाहर निकलने वाला देश है।

दुनिया का 2/3 भाग गरीबी अफ्रीका महाद्वीप में है।

वर्ल्ड बैंक के अनुसार 2004 में 38.9% जनसंख्या भारत मे गरीबी रेखा के नीचे थी। वहीं 2011 में 21.2% जनसंख्या गरीबी रेखा के नीचे है।

आज भारत की बढ़ती अर्थ व्यवस्था के कारण अफ्रीका महाद्वीप के कई सारे देश भारत के एंटरप्रेन्योर को अपने यहाँ निवेश के लिए बुला रहे हैं।

Leave a comment

Leave a Reply