रोड 🛣️के कुछ नए प्रावधान🚥

सेक्शन 180 बिना लाइसेंस के गाड़ी चलाने पर ₹5000 दण्ड जो पहले सिर्फ ₹500 था।

सेक्शन 185 शराब पी कर गाड़ी चलाना, ₹10000 दण्ड जो पहले सिर्फ ₹2000 था।

सेक्शन 189 रेसिंग पर ₹5000 दंड जो पहले ₹500 था।

सेक्शन 190 (ब) बिना सीट बेल्ट के गाड़ी चलाने पर ₹1000 दण्ड जो पहले सिर्फ ₹100 था।

सेक्शन 194 (स) दो पहिया वाहनों पर ओवरलोड होने पर ₹2000 दंड व 3 महीने के लिए लाइसेंस रद्द।

सेक्शन 194 (द ) बिना हेलमेट ₹1000 दंड व साथ मे 3 महीने के लिए लाइसेंस को रद्द किया जाएगा। पहले सिर्फ ₹100 दंड था।

सेक्शन 196 बिना इंश्योरेंस के गाड़ी चलाने पर ₹2000 का दंड है जो पहले सिर्फ ₹1000 था।

सेक्शन 199 यदि कोई नाबालिग गाड़ी चलाते पाया जाता है तो उसके गार्डियन या गाड़ी के मालिक को अपराधी माना जायेगा, जिसमें ₹25000 व 3 साल जेल के दंड का भी प्रावधान है।

इस बिल में ऐसे बहुत सारे सख्त कानून का प्रावधान लाया गया है लेकिन इसके दूसरे पक्ष को समझना बहुत जरूरी है।

इंटरनेशनल रोड फेडरेशन के हिसाब से भारत मे हर साल लगभग 5 लाख एक्सीडेंट होते है।

दुनिया में लगभग 12 लाख एक्सीडेंट होते है जिसका प्रभाव 50 लाख परिवारों को झेलना पड़ता है।

इन एक्सीडेंट के कारण दुनिया 12 लाख करोड़ डॉलर बर्बाद हो जाता है।

2030 तक रोड एक्सीडेंट हर पांचवीं मौत का कारण बन जाएगा।

देश को स्वस्थ व सुरक्षित बनाने के लिए इस प्रकार के नियमों का होना अतिआवश्यक है क्योंकि यह एक जीवन और मृत्यु का प्रश्न है।

Leave a comment

Leave a Reply